Home » चार्ल्स वुड का घोषणा पत्र | Charles Wood’s Manifesto

चार्ल्स वुड का घोषणा पत्र | Charles Wood’s Manifesto

Charles Wood’s Manifesto 1854 AD
चार्ल्स वुड का घोषणा पत्र 1854 ईसवी



(Charles Wood) चार्ल्स वुड बोर्ड ऑफ कंट्रोल के प्रधान थे।

जिन्होंने 19 जुलाई 1854 को भारतीय शिक्षा के विषय में एक योजना प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

इनके द्वारा प्रस्तुत योजना प्रस्ताव “वुड का डिस्पैच” कहलाया।
चार्ल्स वुड (Charles Wood) के इस प्रस्ताव में कुल 100 अनुच्छेद थे ।
जिसमें शिक्षा का माध्यम, सुधार तथा शिक्षा के उद्देश्यों आदि के विषय में सुझाव दिए गए थे।

चार्ल्स वुड (Charles Wood) के इसी घोषणा पत्र को “भारतीय शिक्षा का मैग्नाकार्टा” (“Magnacarta of Indian Education” ) भी कहा जाता है।


चार्ल्स वुड (Charles Wood) के घोषणा पत्र के सुझाव

वुड के घोषणा पत्र में निम्नलिखित सुझाव शामिल थे –

1- उच्च शिक्षा के लिए अंग्रेजी भाषा का प्रयोग किया जाए तथा देशी भाषा के विकास के लिए भी कार्य किया जाए।

2- सरकार द्वारा पाश्चात्य शिक्षा के प्रचार-प्रसार को उद्देश्य बनाया जाए।

3-ग्रामीण स्तर पर प्राथमिक पाठशाला स्थापित की जाएं,
जहां देसी भाषा के माध्यम से अध्ययन कराया जाए तथा इसके ऊपरी स्तर अर्थात जिला स्तर पर एंग्लो-वर्नाकुलर हाई स्कूल तथा कॉलेज स्थापित किए जाएं।

4- निजी प्रयासों के लिए अनुदान सहायता प्रदान की जाए।

5- मुंबई, कोलकाता तथा मद्रास में लंदन विश्वविद्यालय की तर्ज पर तीन विश्वविद्यालय स्थापित किए जाए,
इसी के साथ इन विश्वविद्यालयों में एक कुलपति, उपकुलपति, सीनेट एवं विधि सदस्यों की नियुक्ति की जाए।

6- कंपनी के पांचों प्रांतों में लोक शिक्षा विभाग की स्थापना की जाए तथा इस विभाग को एक-एक निदेशक के अधीन रखा जाए ।

7- चार्ल्स वुड  के इस घोषणापत्र में तकनीकी, व्यवसायिक विश्वविद्यालयों की स्थापना के साथ साथ महिला शिक्षा को भी समर्थन दिया गया।


लोक शिक्षा विभाग की स्थापना

चार्ल्स वुड (Charles Wood) के इस घोषणा पत्र की सभी सुझावों को लागू कर दिया गया,
1855 ईसवी में लोक शिक्षा विभाग स्थापित कर दिया गया, इसी के साथ कोलकाता, मुंबई तथा मद्रास विश्वविद्यालय की स्थापना की गई।
श्री बेथुन के प्रयासों से महिला पाठशालाओं की भी स्थापना हुई।

50 वर्षों तक चार्ल्स की नीतियां चलती रही तथा भारतीय शिक्षा का तेज गति से पाश्चात्यीकरण हुआ।

नोट – चार्ल्स वुड्स डिस्पैच (charles wood despatch ) का संबंध मुख्य रूप से विश्वविद्यालय शिक्षा से था।

भारतीय शिक्षा का इतिहास | History of indian education

 

1 thought on “चार्ल्स वुड का घोषणा पत्र | Charles Wood’s Manifesto”

  1. Pingback: हंटर आयोग ( Hunter Commission ),हंटर शिक्षा आयोग 1882 - 83 | Hindlogy

Leave a Reply

Your email address will not be published.