Home » पिथौरागढ़ जिला : Pithoragarh District : Hindlogy

पिथौरागढ़ जिला : Pithoragarh District : Hindlogy

Pithoragarh

Pithoragarh



पिथौरागढ़ जिला : Pithoragarh Jila
Pithoragarh District

पिथौरागढ़ पर कत्यूरी राजवंश का शासन रहा,
कत्यूरी राजवंश के ही एक शासक पिथौरा के नाम पर इस क्षेत्र को पिथौरागढ़ ( pithoragarh) कहा गया।
पिथौरासाहि (Pithorasahi) ने इस क्षेत्र में एक किले का निर्माण करवाया , जिसका नाम पृथ्वीगढ़ था ,यही पृथ्वीगढ़ बाद में पिथौरागढ़ कहलाया।

पिथौरागढ़ ( Pithoragarh) जिले का निर्माण

24 फरवरी 1960, को अल्मोड़ा जिले से चार तहसीलों पिथौरागढ़ ( pithoragarh) धारचूला (Dharchula) , मुनस्यारी (Munsyari), डीडीहाट (Didihat) को मिलाकर एक पृथक जिला बनाया गया।

1972 में चंपावत ( Champawat) को भी एक तहसील के रूप में इसका हिस्सा बनाया गया,
जिसको कि बाद में 1997 में एक अलग जिले के रूप में मान्यता दे दी गई

विभिन्न क्षेत्रों में अलग-अलग शासकों पिथौरागढ़ ( pithoragarh) पर शासन रहा,
पिथौरागढ़ ( pithoragarh) के अस्कोट में पाल वंश के राजा अभय पाल द्वारा शासन किया जाता था।डीडीहाट से प्राप्त ब्ल्यूली ताम्रपत्र से से पता चलता है की डोटी के मल्लों (1353 के समय) ने इस क्षेत्र पर शासन किया,
इन मल्ल शासको में रिपुमल्ल, कल्याणमल्ल, रायमल्ल,अनंदमल्ल आदि प्रमुख है।

पिथौरागढ़ के गंगोलिहाट में मनकोटियों (चंदवंशीय थे ) का शासन था,और पिथौरागढ़ के ही चम्पावत में बम लोगो का शासन था।
बम लोगो द्वारा इस क्षेत्र को सोर कहा जाता था, इसलिए इस क्षेत्र को सोर घाटी कहा जाता है I

पिथौरागढ़ ( pithoragarh) का प्राचीन नाम सोर है , जिसका उल्लेख हमें बास्ते अभिलेख से प्राप्त होता है।
बाजबहादुर चंद के ताम्रपत्र लेख में सोर के लिए “वाल्दिया” शब्द का प्रयोग किया गया था।


पिथौरागढ़ ( Pithoragarh) जिले की भौगोलिक स्थिति

पिथौरागढ़ (pithoragarh)राज्य का सबसे पूर्वी जनपद है, जो नेपाल (Nepal) ( पूर्वी सीमा ) और चीन (China) ( उत्तरी सीमा ) के साथ अंतर्राष्ट्रीय सीमा बनाता है।

पिथौरागढ़ (pithoragarh) जिला सोर घाटी में बसा है, इसकी आकृति कटोरानुमा  है।

उत्तराखंड में पिथौरागढ़ सर्वाधिक अंतरराष्ट्रीय सीमा बनाने वाला जिला है।

अंतरराष्ट्रीय सीमा के अलावा पिथौरागढ़ की राज्य के चार जनपदों के साथ भी सीमाएं लगती हैं।
पश्चिम में चमोली व बागेश्वर
दक्षिण में चम्पावत व अल्मोड़ा

जिले का कुल क्षेत्रफल 7090 वर्ग किलोमीटर है
पिथौरागढ़ क्षेत्रफल की दृष्टि से उत्तरकाशी चमोली के बाद राज्य का तीसरा सबसे बड़ा जिला है


पिथौरागढ़ ( pithoragarh) जिले प्रशसनीय स्थिति

विधानसभा क्षेत्र -4

धारचूला, डीडीहाट, पिथौरागढ़, गंगोलीहाट (अ०जा०)

तहसील – 13

पिथौरागढ़, डीडीहाट, गंगोलीहाट, बेरीनाग, धारचूला, मुनस्यारी, कनालिछिना, देवलथल, गनाई गंगोली, थल, बंगापानी, तेजम, पांखू

विकास खंड – 8

बिन, मुनाकोट, डीडीहाट, कनालीछीना, धारचूला, मुनस्यारी,गंगोलीहाट,बेरीनाग

कुल जनसँख्या – 483439
साक्षरता दर – 82.25 %
लिंगानुपात – 1020
जनघनत्व – 68
दशकीय वृद्धि दर – 4.58 %


पिथौरागढ़ (Pithauragarh) जनपद के पर्वत व घटिया

पिथौरागढ़ ( pithoragarh) जिले में कई प्रसिद्द पर्वत व चोटियां स्थित हैं-

प्रमुख घाटियां
व्यास घाटी
जोहार घाटी
दारमा घाटी
चौदंस घाटी

प्रमुख पर्वत

नंदा कोट पर्वत व गुन्नी पर्वत (Nandakot parwat )

यह दोनों ही पर्वत पिथौरागढ़ वह चमोली जनपद की सीमा पर पढ़ते हैं।
नंदाकोट पर्वत की कुल ऊंचाई 6861 मीटर है।

पंचाचुली पर्वत (Panchachuli Parwat)

पंचाचुली पर्वत पिथौरागढ़ जिले के धौली गोरी गंगा के बीच में स्थित है।
इस पर्वत की ऊंचाई 6904 मीटर है।

पिथौरागढ़ के ही गंगोलीहाट के उत्तर में लंकेश्वर पहाड़ी व दक्षिण में शैलेश्वर पहाड़ी स्थित है
इसके अलावा पिथौरागढ़ जिले में तारा पहाड़, बेटुलीधार पर्वत, मृगतुंग पर्वत स्थित है।

पिथौरागढ़ जिले की प्रमुख चोटियां

  • खालिया टॉप (khalia Top) -मुनस्यारी में स्थित यह चोटी एक प्रसिद्ध ट्रैकिंग स्थल है।
  • चौधरा चोटी (Chaudhara Choti)
  • सुली  पीक (suli peek)
  • नागलफु चोटी (naglafu choti)
  • कुचेला धूरा पीक (kucheladhura peek)
  • हरदौल चोटी (hardaul choti)

Pithoragarh

पिथौरागढ़ के प्रमुख ग्लेशियर

मिलम ग्लेशियर

  • मिलम ग्लेशियर पिथौरागढ़ जिले में मुनस्यारी के समीप स्थित है।
  • कुल लम्बाई 16 किमी है।
  • कई छोटी छोटी हिमानियों से मिलकर इस ग्लेशियर का निर्माण हुआ है।
  • यह ग्लेशियर गोरी गंगा का उद्गम श्रोत है।
  • मिलम ग्लेशियर कुमाऊँ क्षेत्र का सबसे बड़ा ग्लेशियर है।
  • यह ग्लेशियर मिलम नदी का उद्गम श्रोत है , जो कि पिण्डारी नदी की सहायक नदी है।

नामिक ग्लेशियर

  • पिथौरागढ़ में स्थित यह ग्लेशियर अत्यंत ही दुर्गम ग्लेशियर है।
  • यह ग्लेशियर पूर्वी रामगंगा का उद्गम श्रोत है।

अन्य प्रमुख ग्लेशियर में

  • रालम ग्लेशियर (Ralam Glacier)
  • काली ग्लेशियर (Kali Glacier)
  • हीरामणि ग्लेशियर (Hiramani Glacier)
  • सोना ग्लेशियर (Sona Glacier)
  • पिनौरा ग्लेशियर (Pinoura Glacier)
  • पोटिंग ग्लेशियर (Ponting Glacier)
  • बाल्टी ग्लेशियर (Balti Glacier)
  • मेओला ग्लेशियर (Mayola Glacier)
  • चीपा ग्लेशियर ( Cheepa Glacier )

पिथौरागढ़ के प्रमुख कुंड

  • सूर्यकुंड
  • मेसर कुंड
  • थामरी कुंड
  • पार्वती कुंड
  • नन्दा कुंड

पिथौरागढ़ के प्रमुख बुग्याल

  • पिण्डारी बुग्याल
  • नामिक बुग्याल
  • जोहार बुग्याल
  • खलिया बुग्याल
  • छिपला कोट बुग्याल
  • थाला बुग्याल
  • लड़ीपांगती बुग्याल
  • राहाली बुग्याल
  • गैरधार बुग्याल
  • कालामुनि बुग्याल
  • रुई बुग्याल
Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published.